भतूल्या/भभूल्या

मई-जून महीनों में संवाहनिक धाराओं की उत्पत्तिस्वरूप स्थानीय रूप से वायु भंवर उत्पन्न होते हैं, इन्हें भतूल्या या भभूल्या कहते हैं।

Leave a Comment

Related Posts