घग्घर

शिवालिक श्रेणियों में कालका (शिमला) से उद्भव, टिब्बी (श्रीगंगानगर) में प्रवेश और हनुमानगढ़ में भटनेर किला के पास कुल 465 किमी. प्रवाह के बाद रेगिस्तान में विलीन । वैदिक नदी सरस्वती के पेटे में बहती है। राजस्थान में ‘नाली‘ कहते हैं।

Leave a Comment

Related Posts